कृषक हितेषी
कृषक हितेषी निर्णय
सफलता की कहानी
कृषि दर्शन
मण्डी भाव
कृषि समाचार
फोटो गैलरी
कृषि संबंधित जानकारी 
फसल केप्सूल
आकस्मिक कार्य योजना
बीज
उर्वरक
पौध संरक्षण
मिट्टी परीक्षण
कृषि यंत्रीकरण
बीज गुणवत्ता
उर्वरक गुणवत्ता
कृषि सांख्यिकी
जैविक खेती
जैविक खेती
उत्पाद पंजीकरण
जैविक कृषि नीति
खेती को लाभकारी बनाने के लिए सुझाव
विभागीय गतिविधियाँ
नोटिस बोर्ड
वरिष्ठता / स्थानांतरण सूचि
परिपत्र
निविदाएं
प्रकाशन
मुद्रा 2015-16

फसल सिफारिशें

खरीफ फसल - तिल

किस्में

किस्म

उपज

अवधि

राज्य

गुण

कनक

6 क्वि/हे

78 दिन

उडीसा

1. तेल की मात्रा 47.0 प्रतिशत।

उषा ( डी.एम.टी.-11-6-5)

7 क्वि/हे

70-75 दिन

उडीसा

1. तेल प्रतिशत 43.1

2. बिस्किट रंग के दाने होते है॥

3. पत्ती के रोग और एन्टीगास्ट्रा के लिए सहनशील।

टी.एम.वी.-3

6 क्वि/हे

80 दिन

तमिलनाडु

1. तेल प्रतिशत 52।

2. पर्ण सुरंगक के लिए सहनशील।

टी.एम.वी.-4

6.5 क्वि/हे

85-90 दिन

तमिलनाडु

1. दाने हल्के भूरे रंग के होते है।

2. तेल की प्रतिशत मात्रा 50.0

टी.एम.वी.-6

7 क्वि/हे

85-90 दिन

तमिलनाडु

1. दाने भूरे रंग के होते है।

2. सूखे के लिए सहनशील।

3. तेल की प्रतिशत मात्रा 54.0।

को.-1

7.3 क्वि/हे

90 दिन

तमिलनाडु

1. दाने काले रंग के होते है।

2. तेल की प्रतिशत मात्रा 50.0।

टी.एस.एस.-6

8 क्वि/हे

75-80 दिन

तमिलनाडु

1. दाने सफेद रंग के होते है।

2. फाईलोडी और अल्टानेरिया पत्ती धब्बे के लिए सहनशील।

3. एक फल्ली में चार दाने होते है।तेल की प्रतिशत मात्रा 54.0।

पयूर-1

6.44 क्वि/हे

90 दिन

तमिलनाडु

1. दाने काले रंग के होते है।

2. पौधे झाड़ी के समान होते है।

3. एक फल्ली में चार दाने होते है।

4. तेल की प्रतिशत मात्रा 50.0।

वी.आर.आई.-1

6-7 क्वि/हे

70-75 दिन

तमिलनाडु

1. दाने गहरे भूरे रंग के होते है।

2. पौधे छोटे और सीधे होते है।

3. एक फल्ली में चार दाने होते है।

4. तेल की प्रतिशत मात्रा 51.0।

कनके वाइट

85-90 दिन

125-130 दिन

बिहार

1. दाने मटमैला सफेद रंग के होते है।

2. तेल की प्रतिशत मात्रा 50.0।

कृष्णा

7.5 क्वि/हे

85-90 दिन

बिहार

1. दाने काले रंग के होते है।

2. अल्टानेरिया पत्ती धब्बा एवं फल्ली छेदक के लिए सहनशील।

3. तेल की प्रतिशत मात्रा 46.0।

ई.-8

5 क्वि/हे

100 दिन

कर्नाटक

1. दाने बड़े एवं सफेद रंग के होते है।

2. जीवाणु पत्ती धब्बा के लिए प्रतिरोधक।

3. भभूतिया रोग के प्रति आंशिक प्रतिरोधक।

4. तेल की प्रतिशत मात्रा 53.0।

डी.एस.-1

4-5 क्वि/हे

85-90 दिन

कर्नाटक

1. दाने सफेद रंग के होते है।

2. पौधे शाखाहीन होते है।

3. अल्टानेरिया पत्ती धब्बा एवं जीवाणु झुलसन के लिए सहनशील।

4. तेल की प्रतिशत मात्रा 51.0।

गौरी

6-6.5 क्वि/हे

85-90 दिन

आन्ध्र प्रदेश

1. दाने गहरे भूरे रंग के होते है।

2. अगेती खरीफ एवं जायद मौसम के लिए उपयुक्त।

3. तेल की प्रतिशत मात्रा 50.0।

माधवी

4.5-5 क्वि/हे

70-75 दिन

आन्ध्र प्रदेश

1. दाने हल्के भूरे रंग के होते है।

2. खरीफ एवं रबी के लिए अगेती किस्म।

3. तेल की प्रतिशत मात्रा 50.0।

राजेश्वरी

4-5 क्वि/हे

85-90 दिन

आन्ध्र प्रदेश

1. दाने सफेद होते है।

2. पौधा कम शाखाओं वाला होता है।

3. मेक्रोफेमिना तना एवं जड़ सड़न एवं भभूतिया के प्रति सहनशील।

4. तेल की प्रतिशत मात्रा 50.5।

वरहा

9-10 क्वि/हे

80-85 दिन

आन्ध्र प्रदेश

1. दाने गहरे भूरे रंग के होते है।

2. तेल की प्रतिशत मात्रा 53.0।

3. खरीफ एवं रबी के लिए एक समान पकती है।

गौतम

8.5-10 क्वि/हे

75 दिन

आन्ध्र प्रदेश

1. दाने हल्के भूरे रंग के होते है।

2. एक समान पकती है।

3. अल्टानेरिया पर्ण दाग के लिए प्रतिरोधक।

4. तेल की प्रतिशत मात्रा 53.0।

श्वेता तिल

6-7 क्वि/हे

80-85 दिन

आन्ध्र प्रदेश

1. दाने कड़े और सफेद रंग के होते है।

2. फल्ली छेदक, पत्ती मोड़क गॉल फ्लाई, फाईलोडी एवं भभूतिया रोग के लिए सहनशील।

3. तेल की प्रतिशत मात्रा 45.0।

कयमकूलम-1

5 क्वि/हे

90-100 दिन

केरल

1. फाईलोडी के लिए आंशिक सहनशील।

2. तेल की प्रतिशत मात्रा 50.0।

सोमा

7 क्वि/हे

80-85 दिन

केरल

1. दाने सफेद रंग के होते है।

2. पत्ती दाग रोग के लिए सहनशील।

3. तेल की प्रतिशत मात्रा 51.2।

सूर्या

7 क्वि/हे

80-85 दिन

केरल

1. दाने स्लेटी रंग के होते है।

2. पत्ती धब्बा फाईलोडी के लिए सहनशील।

3. फल्ली में आठ दाने होते है और फल्ली का आकार छोटा होता है।

4. तेल की प्रतिशत मात्रा 51.4।

तिलक

6.48 क्वि/हे

80 दिन

केरल

1. दाने बड़े और भूरे रंग के होते है।

2. तेल की प्रतिशत मात्रा 51.0।

तिलाथरा

8.84 क्वि/हे

78 दिन

केरल

1. दाने बड़े भूरे रंग के होते है।

2. तेल की प्रतिशत मात्रा 51.5।

जे.टी.-22

7-8 क्वि/हे

78-82 दिन

मध्य प्रदेश

1. फाईटोपथोरा झुलसन के लिए सहनशील।

2. तेल की प्रतिशत मात्रा 58.3।

3. गिर्द एवं बुन्देलखंड के लिए अनुमोदित।

जे.टी.-55

5-7 क्वि/हे

75-90 दिन

मध्य प्रदेश

1. फाईटोपथोरा झुलसन के लिए सहनशील।

टी.के.जी.-8

7-8 क्वि/हे

83-87 दिन

मध्य प्रदेश

1. बीज सफेद रंग के होते है।

2. ऍल्टेरनेरिया जीवाणु पत्ती धब्बा के लिये सहनशील है।

एन-32

7.7 क्वि/हे

90-100 दिन

मध्य प्रदेश

1. सफेद चमकदार रंग के बीज, एक तने वाली (शाखा रहित) किस्म है।

2. तेल की मात्रा 53 प्रतिशत।

3. पत्ती धब्बा के लिये मध्यम प्रतिरोधी।गॉल फ्लाई एंव केप्सुल बोरर के लिये प्रतिरोधी।

कंचन तिल (जे.टी. 7)

8.8 क्वि/हे

85 दिन

मध्य प्रदेश

1. बीज आकार में बड़े एंव सफेद रंग के होते हैं।

2. बहुशाखीय किस्म।

3. तेल की मात्रा 54 प्रतिशत।

जे.टी.-21(टी.के.जी.-21)

5-6.9 क्वि/हे

75-78 दिन

मध्य प्रदेश

1. ब्लास्ट से प्रतिरोधक है।

2. दाने लम्बे एवं बड़े होते है।

टी.के.जी.-22

6-9.5 क्वि/हे

76-81 दिन

मध्य प्रदेश

1. दाना सफेद रंग का होता है।

2. तेल की मात्रा 53.3 प्रतिशत।

3. फाइटोफथोरा अंगमारी रोग के लिये प्रतिरोधक है।

टी.के.जी.-55

6.3 क्वि/हे

76-78 दिन

मध्य प्रदेश

1. दाना सफेद रंग का होता है।

2. तेल की मात्रा 52.6 प्रतिशत।फाइटोफथोरा अंगमारी के लिये सहनशील है।

3. मेक्रोफोमिना तना एंव जड़ सड़न के लिये प्रतिरोधक है।

रमा

10-15 क्वि/हे

85-90 दिन

मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल

1. बीज लाल-भूरे रंग के होते है।

2. जल्दी पकने वाली किस्म है।

3. तेल की मात्रा 45 प्रतिशत।

4. प्रदेश में रबी एंव ग्रीष्म कालीन कास्त हेतु उपयुक्त है।

5. मेक्रोफोमिना तना एंव जड़ सड़न, फाइलोडी एंव बिहार कम्बल कीड़े के लिये प्रतिरोधक है।

उमा

6 क्वि/हे

75-80 दिन

मध्य प्रदेश, उड़ीसा

1. बीज हल्के सफेद रंग के होते है।

2. जल्दी पकने वाली किस्म है।

3. तेल की मात्रा 51 प्रतिशत।

4. प्रदेश में रबी एंव ग्रीष्म कालीन कास्त हेतु उपयुक्त है।

5. परिपक्वता में एक रूपता पायी जाती है तथा अबिखरनशील है।

गुजरात तिल-1

6.3 क्वि/हे

85 दिन

गुजरात

1. बीज सफेद रंग के होते है।

2. बहुशाखीय, चिकने-हरे तने एंव गुलाबी फूल होते है।

3. बहु-फल्ली किस्म है।तेल की मात्रा 49.2 प्रतिशत।

गुजरात तिल-2

7.9 क्वि/हे

85 दिन

गुजरात

1. बीज सफेद रंग के होते है।

2. बहुशाखीय, बहु-फल्ली किस्म है।

3. तेल की मात्रा 50.2 प्रतिशत।

आर.टी.-54

6-8 क्वि/हे

73-83 दिन

राजस्थान, गुजरात

1. बीज भूरे रंग के होते है।

2. तेल की मात्रा 44.1 प्रतिशत।

3. पत्ती झुलसन, मेक्रोफोमिना तना एंव जड़ सड़न के लिये प्रतिरोधक है।

4. एन्टीगास्ट्रा के लिये सहनशील।

जे.आर. 199

40 क्/हिे

82-90 दिन

मध्य प्रदेश एवं

1. ब्लास्ट, गॉल मिज, तना छेदक से प्रतिरोधक है।

2. दाने लम्बे एवं बड़े होते है।

3. जल्दी पकने वाली किस्म।

आर.टी.-103

6-8 क्वि/हे

75-88 दिन

राजस्थान, गुजरात

1. बीज सफेद रंग के होते है।

2. तेल की मात्रा 44.1 प्रतिशत।

3. जीवाणु पत्ती झुलसन, मेक्रोफोमिना तना एंव जड़ सड़न तथा फाइलोडी के लिये सहनशील है।

4. इन्सेक्ट-पेस्ट के लिये प्रतिरोधक।

आर.टी.-46

6-8 क्वि/हे

76-85 दिन

राजस्थान

1. बीज सफेद रंग के होते है।

2. तेल की मात्रा 49.2 प्रतिशत।

3. मेक्रोफोमिना तना एंव जड़ सड़न, केप्सुल बोरर तथा गॉल फ्लाई के लिये सहनशील है।

पंजाब तिल.1

7 क्वि/हे

80-85 दिन

पंजाब

1. बीज सफेद रंग के होते है।

2. फाइलोडी के प्रति सहनशील।

3. तेल की मात्रा 50.0 प्रतिशत।

टीसी-25

7 क्वि/हे

80-85 दिन

पंजाब

1. बीज सफेद रंग के होते है।

2. रोगों एंव इन्सेक्ट पेस्ट के प्रति मध्यम रूप से सहनशील।

3. तेल की मात्रा 48.4 प्रतिशत।

टीसी-289

7 क्वि/हे

90-100 दिन

पंजाब

1. बीज सफेद रंग के होते है।

2. तेल की मात्रा 51.6 प्रतिशत।

आर.टी.-125

6-9 क्वि/हे

71-83 दिन

राजस्थान

1. बीज सफेद रंग के होते है।

2. तेल की मात्रा 49.0 प्रतिशत।

3. मेक्रोफोमिना तना एंव जड़ सड़न, ऍल्टेरनेरिया, सरकोस्पोरा, जीवाणु पत्ती धब्बा तथा फाइलोडी के लिये सहनशील है।

आर.टी.-127

6-9 क्वि/हे

85 दिन

राजस्थान

1. दाने बड़े, सफेद रंग के होते है।

2. तेल की मात्रा 50.6 प्रतिशत।

3. जीवाणु पत्ती धब्बा, मेक्रोफोमिना तना एंव जड़ सड़न,भभुतिया, फाइलोडी, गॉल फ्लाई तथा माइट के लिये सहनशील है।

फूले तिल-1

5-6 क्वि/हे

90-95 दिन

महाराष्ट्र

1. दाने बड़े, सफेद रंग के होते हैं।

2. तेल की मात्रा 50.0 प्रतिशत।

एन-8

5 क्वि/हे

125-130 दिन

महाराष्ट्र

1. दाने भूरे रंग लिये होते है।

2. तेल की मात्रा 50.5 प्रतिशत।

तापि (जेएलटी-7)

6-7 क्वि/हे

80-85 दिन

महाराष्ट्र

1. दाने बड़े एंव सफेद रंग के होते है/जल्दी पकने वाली किस्म।

2. तेल की मात्रा 50.0 प्रतिशत।

पदमा (जे.एल.टी.-26)

6-7 क्वि/हे

72-75 दिन

महाराष्ट्र

1. दाने सफेद रंग के होते है/जल्दी पकने वाली किस्म।

2. तेल की मात्रा 50.0 प्रतिशत।

टी-12

4-7 क्वि/हे

85-90 दिन

उत्तर प्रदेश

1. दाने सफेद रंग के होते है/फाइलोडी एवं पत्ती मोड़क के लिए सहनशील।

2. तेल की मात्रा 47.0 प्रतिशत।

टी.-13

4-7 क्वि/हे

90-95 दिन

उत्तर प्रदेश

1. दाने सफेद रंग के होते है/पानी जमाव के प्रति सहनशील।

2. तेल की मात्रा 47.0 प्रतिशत।

शेखर ( टी.-78 )

6-8 क्वि/हे

80-85 दिन

उत्तर प्रदेश

1. दाने सफेद रंग के होते है/पानी जमाव के लिए प्रतिरोधक।

2. फाइलोडी एवं पत्ती मोड़क के लिए सहनशील।

3. तेल की मात्रा 50.0 प्रतिशत।

तिलोत्मा

9-10 क्वि/हे

75-80 दिन

पश्चिम बंगाल

1. काले भूरे के दाने होते है।

2. तेल की मात्रा 40 प्रतिशत।

3. मेक्रोफोमिना तना एंव जड़ सड़न, फाइलोडी एंव बिहार कम्बल कीड़े के लिये प्रतिरोधक है।

हरियाणा तिल-1

5 क्वि/हे

80 दिन

पश्चिम बंगाल

1. दाने सफेद रंग के होते है/पत्तियां लम्बी एंव मोटी होती हैं।

2. मुख्य रोगों के लिये प्रतिरोधक।

3. फाइलोडी एवं पत्ती मोड़क के लिए सहनशील।

4. तेल की मात्रा 52.0 प्रतिशत।

विनायक

5 क्वि/हे

-

उडीसा

1. पत्ती धब्बे के लिये सहनशील।

कालका

6 क्वि/हे

82 दिन

उडीसा

1. हल्के भूरे रंग के दाने होते है।

2. पानी जमाव के लिये प्रतिरोधक।

3. तेल की मात्रा 49 प्रतिशत।

 


M.P. Krishi
 
किसान को दी जाने वाली सुविधायें |डाउनलोड फॉण्ट|डिस्क्लेमर|वेब सूची|उपयोगकर्ता मार्गदर्शिका|ू. दिगदर्शिका|अचल सम्पति

वेबसाइट:आकल्पन,संधारण एवं अघयतन क्रिस्प भोपाल द्वारा   
This site is best viewed in IE 6.0 and above with a 1024x768 monitor resolution
कृषिनेट  पोर्टल पर उपलब्ध जानकारी, फोटो, लिंक, विडियो कल्याण तथा कृषि विकास संचालनालय एवं विभाग के अन्य सहयोगी संस्थानों द्वारा उपलब्ध करायी गई है